अर्श भंगदर शिविर में 10 ऑपरेशन हुए, 50 का किया चयन , शाहपुरा में शुक्रवार को अग्निकर्म चिकित्सा पद्वति से होगा दर्द का उपचार

0
163


शाहपुरा-मूलचन्द पेसवानी

शाहपुरा में भारत विकास परिषद तथा आयुर्वेद विभाग की ओर से राम शाला भवन में आयोजित अर्शभगंदर शिविर में ऑपरेशन योग्य 50 रोगियों का चयन किया गया है। आज शिविर के दूसरे दिन 10 रोगियों का ऑपरेशन सफलतापूर्वक किया गया।
शिविर के सह प्रभारी डॉ श्यामसुंदर स्वर्णकार ने बताया कि अब तक आउटडोर में 438 रोगियों का परीक्षण कर चिकित्सा परामर्श किया गया है। इन रोगियों को आवश्यक दवाइयों का वितरण भी किया गया। इनमें से 50 रोगियों को ऑपरेशन योग्य पाए जाने पर भर्ती किया गया है। ऐसे कुल 109 111 रोगियों की पहचान की गई थी।
डॉक्टर स्वर्णकार ने बताया कि 23 दिसंबर शुक्रवार को राजस्थान के प्रसिद्ध अग्निकर्म विशेषज्ञ सत्यदेव यादव अपनी सेवाएं शिविर में देंगे। अग्नि कर्म चिकित्सा पद्धति के माध्यम से दर्द जोड़, घुटना, कमर दर्द, एड़ी दर्द, सर्वाइकल स्पाइन, साइटिका रोग का अग्निकर्म चिकित्सा पद्धति से उपचार शिविर में ही किया जाएगा। कोई भी व्यक्ति पहले आओ पहले पाओ के सिद्धांत से शिविर स्थल पर पहुंचकर इस चिकित्सा पद्धति का लाभ ले सकता है।
उन्होंने बताया कि आज प्रातः कालीन सत्र में योग शिविर का भी आयोजन किया। जिसमें भारत विकास परिषद के अध्यक्ष जय देव जोशी और प्रांतीय कोषाध्यक्ष पवन बांगड़ ने योग अभ्यास कराया। डॉ अनुराग शर्मा ने योग को सार्वजनिक रूप से सहभागिता बढ़ाने के लिए सूक्ष्म व्यायाम रोगानुसार योग कराने की जानकारी दी। इस चिकित्सा शिविर में डॉक्टर ओम प्रकाश गुप्ता, डॉ मंजू मीणा, डॉक्टर महिमा नागरिया, डा कर्मवीर चुंडावत, डा राम नरेश मीणा, डा हिम्मत धाकड़, डॉक्टर विनीत जैन के अलावा मुकेश जांगिड़, अशोक जाट, सुखदेव जाट, विष्णु वैष्णव, राजेंद्र दरोगा, ओम प्रकाश सेन, मुकेश सेन, शीतल शर्मा, आशा तेली, भावना चैधरी भी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। सभी रोगियों के आवास व भेाजन की व्यवस्था भाविप की ओर से की गई है।