कोयले की भट्टी में किशोरी को जला देने का मामला , बीज निगम चेयरमेन गुर्जर ने कहा वो सरकार से मुआवजा व कार्रवाई की मांग कर रहे है , आईजी, कलेक्टर, एसपी मौके पर पहुंचे

0
382

भीलवाड़ा, मूलचन्द पेसवानी

भीलवाड़ा जिले के कोटड़ी थाना क्षेत्र के एक गांव में चैदह साल की किशोरी के साथ कुछ लोगों ने जघन्य कृत्य किया। किशोरी का अपहरण कर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया। उसके बाद हत्या करके शव को कोयले की भटटी में जला दिया। बुधवार देर रात पता चलने पर पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया। रात में पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। एफएसएल और डाॅग स्क्वाइड टीम भी जयपुर से मौके पर पहुंची। धधकती भटटी में किशोरी के शव के अवशेष मिले है।


राजस्थान बीज निगम के अध्यक्ष राज्यमंत्री धीरज गुर्जर, राजस्थान गुर्जर महासभा के प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व मंत्री कालूलाल गुर्जर व जिलाध्यक्ष शंकरलाल गुर्जर, अजमेर रेंज आई लता मनोज कुमार, जिला कलेक्टर आशीष मोदी, पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्वु मौके पर पहुंचे है।
राजस्थान बीज निगम के अध्यक्ष राज्यमंत्री धीरज गुर्जर ने मृतका के परिजनों को सांत्वना देने के बाद वारदात स्थल का भी निरीक्षण कर आईजी अजमेर व पुलिस अधीक्षक को दोषियों को गिरफ्तार कर सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि वो राज्यसरकार के प्रतिनिधि होने के बाद भी सरकार से मृतका के परिजनों को मुआवजा देने व आरोपियों को फासंी देने की मांग कर रहे है।


पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्वु ने कहा कि मामले की गंभीरता को समझ पुलिस ने बुधवार रात से कार्रवाई की। अब तक तीन जनों को डिटेन कर पूछताछ की जा रही है। मामले में एफएसएल व डाग स्काड की सहायता व आधुनिक तरीके से अनुसंधान किया जा रहा है। कोयले की भट्टी से मिले अवशेष का भी अनुसंधान कराया जायेगा।
इस वारदात के बाद अब गुर्जर समाज के लोगों का जमावड़ा बढ़ता जा रहा है। राजस्थान गुर्जर महासभा के प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व मंत्री कालूलाल गुर्जर व जिलाध्यक्ष शंकरलाल गुर्जर सहित काफी तादाद में ग्रामीण जमा हो गये है। ये आरोपियों को गिरफ्तार करने, पीडित परिवार को मुआवजा देने की मांग कर रहे है।


इस घटना से नरसिंहपुरा गांव में शोक की लहर छा गई। परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस ने परिवार की रिपोर्ट पर अपहरण और बलात्कार के बाद हत्या की रिपोर्ट दी है। थानाप्रभारी खींवराज गुर्जर के अनुसार एक गांव में रहने वाली किशोरी बुधवार को रोजाना की तरह सुबह साढ़े आठ बजे खेत पर बकरियां चराने गई थी। शाम को बकरियां घर आ गई जबकि किशोरी नहीं लौटी। इससे परिजन चिंतित हो गए। पहले परिजन खेत पर गए। वहां नहीं मिलने पर परिजन और ग्रामीण तलाशते हुए जंगल में गए। वहां चार-पांच कोयला भटटी में से एक धधक मिली। यहां कालबेलिया जाति के लोग अक्सर कोयला बनाते है। परिजनों को धधकती भटटी में से दुर्गंध आई। परिजनों ने लकड़ी के जरिए भटटी की राख को खंगाला तो उसमें से चांदी का कड़ा मिला। यह कड़ा लापता किशोरी के हाथ का था। किशोरी को जला देने की आशंका पर परिजनों ने इसकी जानकारी कोटड़ी थाना पुलिस को दी। देर रात करीब दो बजे पुलिस मौके पर पहुंची। भटटी की आग को बुझाकर स्थान को सुरक्षित रखा।